गोपारचन

देश का भविष्य कम्युनिटी रेडियो के साथ

Posted on: जनवरी 10, 2011


बहुत दिनों के बाद नए साल में आज सतीश द्वारा लिखे गए एक लेख से गोपरचनअपनी दूसरी पारी शुरू करने जा रहा है, उनका लेख हमें अभी मिला और वह आपके सामने आपकी पाठकीय प्रतिक्रिया के लिए हाजिर है . आप अगर अपने लेख को गोपरचन पर भेजना चाहते हैं तो हमसे हमारे मेल पर संपर्क किया जा सकता है- मोडरेटर
सतीश-
शायद यह बात मैं नहीं करता लेकिन जबसे महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग द्वारा आयोजित मीडिया की राष्ट्रीय संगोष्ठी समाप्त हुई है विश्वविद्यालय के तमाम छात्र छात्राओं के जबान पर सिर्फ कम्युनिटी रेडियो छाया हुआ है। बात दरअसल यह है कि आगरा विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष श्री गिरिजाशंकर जी ने अपने वक्तव्य में कम्युनिटी रेडियो के महत्व को बताते हुए कहा कि आज समाज में कम्युनिटी रेडियो के माध्यम से बुनियादी जरूरतों को रेखांकित किया जा सकता है। यह बात इन्होंने इस तरीके से छात्रांे के सामने रखी कि लोग इसे अच्छी तरह समझ ही नहीं सके या उनकी इस बात को मजाक में लिया जाने लगाा। आज कोई भी समस्या का वास्तविक समाधान कम्युनिटी रेडियो ही है। अगर कही किसी भी प्रकार की कोई समस्या आती है तो उसे कम्युनिटी रेडियो के माध्यम से पहुंचाया जा सकता है। कम्युनिटी रेडियो किसी भी समस्या और जानकारी को संप्रेषित करने के लिए बेहतर माध्यम हो सकता है । वास्तव में छोटी – छोटी बातों के लिए कम्युनिटी रेडियो का सहारा लेना उचित है। बात दीगर है कि उनकी बात को हास्पयद तरीके से लिया गया। आवश्यकता इसके प्रसार की है.
पुरे देश में घोटालो और भष्ट्राचार का दौर चल पडा है पुरी मीडिया इन्हें उजागर करने में जी जान से लगी पडी है। फिर भी समाज इन घटनाओं के प्रति जागरूकता दिखाई पड रही है। शायद गिरिजाशंकर जी सही ही कह रहे थे कि यदि कम्युनिटी रेडियो के माध्यम से इन सूचनाओं को संप्रेषित किया जायगा तो लोग काफी जागरूक होंगे। मैं भी देखना चाहता हुं कि वाकई में कम्युनिटी रेडियो लगाने से क्या हमारे यहां की समस्या समाप्त हो जाएगी?
अन्त में मैं बस इतना ही कहुंगा कि कम्युनिटी रेडियो के न होने से ही शायद आज भारत इतना पिछडा है। फरवरी आने वाला है क्या बसंत में भी इसका इस्तेमाल संभव है?

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 1 other follower

पुरालेख

Top Clicks

  • कोई नही

ब्लाग स्थिति

  • 1,404 hits
जनवरी 2011
सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि रवि
« अक्टूबर   फरवरी »
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31  

संग्रहालय

%d bloggers like this: